Freelancing kya hai। Freelancing कैसे शुरू करें?, Freelancing से पैसे कैसे कमाए ?

Freelancing kya hai

Freelancing kya hai: online पैसे कमाने के तरीकों के लिए हमें काफी struggle करना पड़ता है, जैसे कि blogging से पैसे कमाना इतना आसन नहीं, इसमें time और मेहनत दोनों लगते हैं और काफी समय के बाद जाकर हम इससे अच्छा कमा पाते है। यदि कोई पूछे कि क्या कोई ऐसा तरीका है जिससे हम quickly internet से पैसे कमा सकें, तो वो है freelancing।

फ्रीलांसिंग आपके करियर में प्रोफेशनली शुरुआत करने, कुछ अतिरिक्त पैसे कमाने या नए करियर में बदलाव का एक शानदार तरीका हो सकता है। यह घर से काम करने और अपने काम के घंटे स्वयं निर्धारित करने का एक शानदार तरीका भी हो सकता है।

Table of Contents

फ्रीलांसर का सही अर्थ क्या है/Freelancing क्या होता है

फ्रीलांसिंग (Freelancing kya hai in Hindi) एक कॉन्ट्रैक्ट– बेस्ड बिजनेस है जहां व्यक्ति सिर्फ किसी एक कंपनी में काम नहीं करते बल्कि अपनी सेवा कई सारे क्लाइंट्स को प्रोवाइड करते है। फ्रीलांसिंग करने वालों को ही फ्रीलांसर कहा जाता है। फ्रीलांसर अपनी सुविधा के अनुसार घर बैठे इनकम हासिल करते हैं हैं। ये मैनेजमेंट, कॉपीराइटर या एडिटर, अकाउंटेंट, वेब डेवलपर, फोटो वीडियो एडिटर के अलावा कई मुद्दों पर स्वतंत्र सलाहकार के तौर पर भी भी काम कर सकते हैं। इनको अपने काम के लिए किसी भी ऑफिस या बोस के सामने में सुबह-शाम हाजरी नहीं लगानी पड़ती, ये अपने एक्सपीरियंस व स्किल के दम पर घर बैठे अपने समय व मनमर्जी के अनुसार कमाई कर सकते हैं।

Freelancing kya hai। सरल शब्दों में फ्रीलांसिंग क्या है?

फ्रीलांसिंग तब होती है जब आप किसी और के लिए नहीं बल्कि अपने लिए काम करते हैं।

फ्रीलांसिंग अपना खुद का व्यवसाय शुरू करने का एक शानदार तरीका है। आप एक विशिष्ट सेवा या परिणाम प्रदान करते हैं, और खरीदार आपको सीधे शुल्क का भुगतान करता है। यह घर बैठे अच्छी इनकम हासिल करने का सरल और सीधा तरीका है।

Freelancing कैसे शुरू करें?

फ्रीलांसिंग बिजनेस स्टार्ट करने के लिए, आपको अपनी स्किल और उत्पादकता की जांच करनी होगी। आपको अपनी स्किल सेट के आधार पर ही आप अपनी सेवाओं की लिस्टिंग बनानी होगी जो आप अपने क्लाइंट को मुखिया सकते हैं। फिर आपको अपने सेवाओं को मार्केट करने के लिए अपना वेबसाइट बनानी चाहिए जो आपकी सेवाओं और प्राइसिंग के बारे में डिटेल में जानकारी प्रोवाइड करती हो।

फ्रीलांसिंग में क्या क्या काम कर सकते हैं?

फ्रीलांसरों के प्रकार की बात कर तो रिमोट वर्क करने वाले हर एक व्यक्ति को फ्रीलांसर कहा जाता है।
एक फ्रीलांसर का उदाहरण एक स्वतंत्र पत्रकार होगा जो अपनी पसंद की कहानियों पर रिपोर्ट करता है और फिर अपना काम सबसे अधिक बोली लगाने वाले को बेचता है। एक अन्य उदाहरण एक वेब डिज़ाइनर या ऐप डेवलपर है जो एक क्लाइंट के लिए एक बार काम करता है और फिर दूसरे क्लाइंट के लिए काम करता है।

अन्य क्षेत्र जिनमें फ्रीलांसर अक्सर काम करते हैं उनमें शामिल हैं:

  1. Graphic design and illustration
  2. Data entry
  3. Marketing, media, & PR
  4. Writing, editing, and proofreading
  5. Software programming and beta testing
  6. Website design
  7. Financial support such as tax preparation
  8. Photography and videography
  9. Gig work, such as driving for rideshare platforms, food delivery, manual tasks, and
  10. care work
  11. Sales

फ्रीलांस काम कैसे मिलता है?

फ्रीलांस नौकरियाँ ज्यादातर रेफरल और नेटवर्किंग के माध्यम से पाई जा सकती हैं, लेकिन वे ऑनलाइन और प्रिंट में भी विभिन्न स्थानों पर पोस्ट की जाती हैं। अपवर्क, लिंक्डइन, क्रेगलिस्ट और फाइवर जैसे ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म फ्रीलांस काम सर्च करने के लिए सबसे पॉपुलर प्लेटफार्म हैं।

क्या फ्रीलांसिंग एक करियर बन सकता है?

हां, फ्रीलांसिंग एक उज्जवल भविष्य है।

महामारी ने हमें दिखाया है कि हम अब पारंपरिक रोजगार मॉडल पर भरोसा नहीं कर सकते। कंपनियों को कर्मचारियों की छंटनी करने के लिए मजबूर होना पड़ा है और कई लोग अब घर से काम कर रहे हैं। फ्रीलांसरों के लिए इससे बेहतर समय कभी नहीं रहा।

क्या फ्रीलांसिंग फ्रेशर्स के लिए अच्छा करियर ऑप्शन है?

फ्रेशर्स के लिए, फ्रीलांसिंग एक बढ़िया विकल्प है। यह व्यावहारिक अनुभव प्राप्त करने, पोर्टफोलियो बनाने और नए कौशल सीखते हुए पैसा कमाने की अनुमति देता है। कई फ्रीलांसिंग प्लेटफ़ॉर्म कई नौकरी के अवसर प्रदान कर

फ्रीलांसर की सैलरी कितनी होती है?

फ्रीलांसिंग प्लेटफॉर्म की सबसे अच्छी बात ये है कि इस पर फ्रैशर भी अप्लाई कर सकते हैं। स्किल और एक्सपीरियंस की सहायता से फ्रीलांसर 50 हजार तक शुरुआती सैलरी भी उठा सकते हैं। अपने पसंदीदा काम के लिए आप घर बैठे ऑनलाइन अप्लाई कर सकते हैं

फ्रीलांसरों की औसत कमाई नीचे दी गई है:

लेखक की सैलरी कितनी होती है? 

फ्रीलांस लेखक प्रति वर्ष औसतन लगभग $42,000 कमाते हैं, और वेतन दर $30-40 प्रति घंटा है।

Editor की सैलरी कितनी होती है?

फ्रीलांस एडिटर का औसत वेतन लगभग $40,000 है। वे आमतौर पर $25-35/घंटा के बीच कमाते हैं।

प्रोग्रामर की सैलरी कितनी होती है?

औसतन, एक फ्रीलांस प्रोग्रामर कई भाषाओं में प्रति घंटे 60-70 डॉलर कमाता है और सालाना लगभग 120,000 डॉलर कमाता है।

मोबाइल डेवलपर की सैलरी कितनी होती है?

मोबाइल ऐप्स के डेवलपर प्रति वर्ष $100,000 के वेतन के साथ $55 से $65 की औसत प्रति घंटा की दर से कमाते हैं।

वेब डेवलपर की सैलरी कितनी होती है?

एक व्यक्तिगत वेब डेवलपर एक फ्रीलांसर के रूप में वेबसाइट डिजाइन और निर्माण करके प्रति वर्ष लगभग $90,000 कमाता है।

ग्राफ़िक डिज़ाइनर की सैलरी कितनी होती है?

एक स्वतंत्र विज़ुअल डिज़ाइनर प्रति घंटे $40-45 कमाता है, जो सालाना लगभग $90,000 के बराबर होता है।

ट्रांस्क्राइबर की सैलरी कितनी होती है?

ट्रांस्क्रिप्शनिस्ट फ्रीलांसरों के रूप में प्रति वर्ष लगभग $28-32K कमाते हैं, औसत प्रति घंटा वेतन $20-25 के साथ अच्छी इनकम हासिल कर लेते हैं।

Accountant की सैलरी कितनी होती है?

Accountant प्रति घंटे $30 और $35 के बीच कमाते हैं, और प्रति वर्ष लगभग $40,000 कमा सकते हैं।

ऑनलाइन मार्केटर्स की सैलरी कितनी होती है?

डिजिटल मार्केटर्स फ्रीलांसरों के रूप में प्रति वर्ष लगभग $50,000 कमाते हैं और उन्हें प्रति घंटे $50 का भुगतान किया जाता है।

फ़ोटोग्राफ़र की सैलरी कितनी होती है?

फ़ोटोग्राफ़र प्रति वर्ष औसतन $42,000 कमाते हैं, प्रति घंटे की दर $35-45/घंटा है।

सीआरएम मैनेजर की सैलरी कितनी होती है?

कस्टमर रिलेशन मैनेजर (CRMs) लगभग $120,000 के वार्षिक वेतन के साथ $50-60/घंटा के बीच कमाने की उम्मीद कर सकते हैं।

डेटा एनालिस्ट की सैलरी कितनी होती है?

औसतन, फ्रीलांस डेटा एनालिस्ट प्रति घंटे $55-65 कमाते हैं और सालाना $100,000 कमाते हैं।

Freelancing sites क्या हैं?/फ्रीलांसर साइट कैसे काम करती है?

फ्रीलांसिंग और रिमोट वर्क के लिए बहुत सारी freelancing websites भी establish हुईं है। चलिए हम थोडा सा इसके बारे में जान लेते हैं कि freelancing websites क्या होती हैं।

मूल रूप से, यह प्लेटफ़ॉर्म ग्राहकों और फ्रीलांसरों के बीच काम और पेमेंट की सुविधा प्रदान करता है । क्लायंट विभिन्न प्रकार की जोब्स पोस्ट करते हैं जिन्हें दुनिया में कहीं से भी किया जा सकता है, और फ्रीलांसर नौकरियों के लिए चार्ज हैं। उस बाद ग्राहक काम करने के लिए फ्रीलांसर को चुनेंगे। एक बार जब प्रोजेक्ट पूरा हो जाता है और एक्सेप्ट हो जाता है, तो फ्रीलांसर को पेमेंट मिलता है।

Best Freelancing Website In Hindi

वेबसाइट से फ्रीलांस काम ढूंढना जटिल नहीं है। अधिकांश साइट्स पर आपको अकाउंट बनाकर के लिए साइन अप करने और प्रोफ़ाइल बनाने की आवश्यकता होती है।

हालाँकि, किसी भी वेबसाइट पर अकाउंट बना कर साइन अप करने से पहले यह दोबारा जांचना न भूलें कि प्रत्येक फ्रीलांस वेबसाइट कैसे काम करती है। इसका अलावा वेबसाइट की पेमेंट टर्म एंड कंडीशन, विड्रॉल मेथड और सेवा शुल्क पर विचार करें।

जब आपके फ्रीलांस करियर को शुरू करने की बात आती है तो दो ऑप्शन होते हैं । आप ऑनलाइन सेवाएं प्रदान करने के लिए अपनी खुद की वेबसाइट बनाने के लिए वेब होस्टिंग और एक डोमेन नाम प्राप्त कर सकते हैं। या आप किसी फ्रीलांस प्लेटफॉर्म पर अकाउंट बनाकर रजिस्टर कर सकते हैं। यदि आपको लगता है कि दूसरा विकल्प आपकी वर्तमान आवश्यकताओं के लिए बेहतर है, तो यह लिस्ट (Best Freelance Websites to Find Work in 2024) आपके लिए बहुत उपयोगी होगी।

यहां हमने सेलेक्ट की हुई शीर्ष 16 फ्रीलांस वेबसाइटें हैं:

1. Fiverr
2. LinkedIn
3. Toptal
4. Upwork
5. Jooble
6. Freelancer.com
7. Flexjobs
8. SimplyHired
9. Guru
10. Behance
11. 99designs
12. Dribbble
13. People Per Hour
14. DesignHill
15. ServiceScape
16. TaskRabbit

 

वेब डेवलपर्स, सोशल मीडिया प्रबंधकों या वित्त सलाहकारों सहित administrative या टेक्नोलॉजी के फील्ड में जॉब की तलाश करने वालों के लिए हम शीर्ष फ्रीलांस वेबसाइट्स की सिफारिश करते हैं:

1. अपवर्क
2. टॉपटाल
3. जूबल

इस बीच, यदि आप क्रिएटिव जॉब्स की तलाश में हैं, जैसे कि लेखक, ग्राफिक डिजाइनर, या पेंटर है- तो आपके के लिए सबसे अच्छी फ्रीलांस वेबसाइटें हैं:

1. Fiverr
2. फ्लेक्सजॉब्स
3. dribbble

 

Freelancing के नुकसान और फायदे

कोरोना काल के बाद से ही ज्यादातर देखा गया है कि कंपनियां हो या एक्सपर्ट लेकिन फ्रीलांसिंग और रिमोट वर्क को ज्‍यादा पसंद कर रहे हैं। इसके अलावा काम करने का यह तरीका क्लाइंट और वर्कर दोनों के लिए फायदेमंद भी साबित हो रहा है। हालांकि एक फ्रीलांसर के तौर पर काम करने के जहां अपने फायदे हैं, वहीं कुछ नुकसान भी है।

फ्रीलांसिंग (Benefits Of Freelancing) के कई फायदे हैं। आप कहीं से भी काम कर सकते हैं, आपके पास अपने घंटों पर अधिक नियंत्रण होता है, और आप उन प्रोजेक्ट का सिलेक्शन सकते हैं जिन पर आप काम करना चाहते हैं।
42% फ्रीलांसरों का दावा है कि यह जीवनशैली उन्हें अपने व्यक्तिगत और व्यावसायिक जीवन को बैलेंस करने के लिए आवश्यक समय प्रोवाइड करता है।

फ्रीलांसिंग के बारे में सबसे अच्छी चीजों में से एक यह है कि आपके पास अच्छी इनकम हासिल करने के लिए बहुत सारे सोर्स मौजूद हो सकते हैं। यह आपको अधिक सिक्योरिटी प्रदान करता है और आपको आपके द्वारा सिलेक्ट किए जाने वाले क्लाइंट के बारे में अधिक selective होने की परमिशन भी देता है।

फ्रीलांसिंग करते समय आप आसानी से परिवार और अपने काम के बीच संतुलन बना सकते हैं। आप पारिवारिक समय या ट्रैवलिंग का आनंद लेते हुए सप्ताह में चार घंटे काम करने में सक्षम हो सकते हैं।

Freelancing के नुकसान

फ्रीलांसिंग का सबसे बड़ा नुकसान यह है कि इस फील्ड में आपको रेगुलर इनकम नहीं मिल सकती। अगर आप जॉब नहीं करते और फ्रीलांसिंग के भरोसे से ही रहना चाहते हैं तो फ्रीलांसिंग करियर के ऑप्शन के तौर पर काफी मुश्किल हो सकती है।
आज भी फ्रीलांसरों को सामाजिक समर्थन नहीं मिलता। सबसे बड़ी बात तो यह है कि छुट्टी और बीमार छुट्टी का भुगतान नहीं किया जाता है। फ्रीलांसिंग में कई बार दिन-रात कार्य करना पड़ता है, अगर आप इंडिया के हैं और आपका क्‍लाइंट अमेरिका का, तो दोनों के टाइम जोन में भी अंतर होता है। इसके अलावा क्लाइंट से कम्युनिकेशन बनाने के लिए रात-रात भर जागकर काम करने से हेल्थ इश्यू होने के साथ ही परिवार व प्रियजनों के साथ रिश्ते में खटास आ जाती है।
फ्रीलांसिंग की दुनिया में कई बार फ्रॉड भी होता है। काम करने के बावजूद भी पर पेमेंट नहीं मिलने पर आपकी मेहनत बेकार चली जाएगी।

Blogging शुरू करने में Freelancing helpful कैसे है?

Blogging में आपको बहुत सारा कंटेंट जेनरेट करना पड़ता है। यदि आपको पहले ही content writing का experience है तो आप blogging के फील्ड में बड़े ही आसानी से और easily success प्राप्त कर पाएंगे। एक्टिव राइटिंग स्किल बेस्हैट और आप blogging करने की सोच रहें है तो content writing freelancing से साथ शुरुआत करना आपके लिए बढ़िया होगा। इसके साथ ही professional तौर पर blogging करने के लिए आपको कुछ investments भी करना पड़ेगा जैसे कि web hosting और domain name खरीदना।

बिना किसी अनुभव के फ्रीलांसिंग कैसे करें?

आपकी पहली फ्रीलांसिंग (How to Become a Freelancer without Experience) नौकरी पाना मुश्किल हो सकता है।

यदि आप सभी ट्रेंड्स में परफेक्ट बनने का प्रयास करते हैं तो सफल होना कठिन हो सकता है। जब आप किसी निश्चित क्षेत्र में विशेषज्ञता हासिल कर लेते हैं, तो आप उस क्षेत्र में विशेषज्ञ बन जाते हैं। तब संभावित ग्राहकों को पता चल जाएगा कि वे उस विशिष्ट विषय पर काम के लिए आपका कांटेक्ट कर सकते हैं।

यह तय करना भी महत्वपूर्ण है कि एक फ्रीलांसर के रूप में आप कौन सी सेवाएँ प्रदान करेंगे। क्या आप आर्टिकल और ब्लॉग लिखेंगे, डिज़ाइन का काम करेंगे, या सोशल मीडिया मार्केटिंग की पेशकश करेंगे? जब आप अपने द्वारा दी जाने वाली सेवाओं के बारे में स्पष्ट होते हैं, तो संभावित ग्राहकों के सामने अपनी मार्केटिंग करना आसान हो जाता है।

उच्च गुणवत्ता वाली पोर्टफोलियो साइट बनाएं

एक फ्रीलांसर के रूप में, आपकी पोर्टफोलियो वेबसाइट आपके व्यवसाय का प्रतिनिधित्व करने वाले सबसे महत्वपूर्ण हिस्सों में से एक है। यह पहली चीज़ है जिसे ग्राहक यह तय करने के लिए देखेंगे कि वे आपके साथ काम करना चाहते हैं या नहीं। इसलिए यह सुनिश्चित करना महत्वपूर्ण है कि आपकी साइट प्रोफेशनल दिखे और आपका सर्वोत्तम कार्य प्रदर्शित करे।

आपके पोर्टफोलियो को नेविगेट करना आसान होना चाहिए और इसमें आपके सर्वोत्तम कार्य के उदाहरण शामिल होने चाहिए। आपको एक शॉर्ट बायो बायोग्राफी, कॉन्टैक्ट इनफॉरमेशन और अपने सोशल मीडिया प्रोफाइल के लिंक भी शामिल करने चाहिए।

सुनिश्चित करें कि आपका पोर्टफोलियो अपडेटेड है और आपके स्किल और एक्सपीरियंस को दर्शाता है। यदि आप श्योर नहीं हैं कि कहां से शुरू करें, तो बेहतरीन पोर्टफोलियो बनाने में मदद के लिए बहुत सारे ऑनलाइन प्लेटफॉर्म मौजूद हैं।

अपने काम के अनुसार फिस निर्धारित करें

कीमतें निर्धारित करना फ्रीलांसिंग का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है। आपकी कीमत आपकी कड़ी मेहनत, आपके पास मौजूद स्किल और एक्सपीरियंस के मुताबिक होनी चाहिए।

कीमतों को लिमिटेड ही रखें- न बहुत अधिक, न बहुत कम। यदि आप अभी भी अनिश्चित हैं, तो मार्केट रेट के आधार पर अपनी फीस को तय करें।

भारत का सबसे अमीर फ्रीलांसर कौन है?

एक नाम फ्रीलांस दुनिया में सफलता और धन के प्रतीक के रूप में सामने आता है, वो है मुंबई के साईराज कालेकर , जिन्हें आसानी से भारत में सबसे अधिक राजस्व कमाने वाले फ्रीलांसर के रूप में करार दिया जाता है।

निष्कर्ष: 

सरल शब्दों में कहे तो फ्रीलांसिंग का सबसे जीवंत पहलू यह है कि आपको विभिन्न संस्कृतियों के लोगों से मिलने का मौका मिलता है। इस प्रकार आप विचारों के प्रति अधिक खुले हो जाते हैं, अधिक सहानुभूतिपूर्ण हो जाते हैं, और काम करने में आसानी महसूस करते हैं।

जब आप अपने क्लायंट के लिए काम करते हैं, तो आपकी कंपनी बढ़ती है; लेकिन जब आप एक फ्रीलांसर के रूप में काम करते हैं, तो आप अपने करियर में बढ़ते हैं, और इस तरह खुद को एक ब्रांड के रूप में स्थापित करते हैं।
फ्रीलांसिंग करते समय आप कहां तक ​​पहुंच सकते हैं इसकी कोई सीमा नहीं है। इसलिए आप अपने ही करियर रुपी जहाज के चालक हैं। इसका तात्पर्य यह है कि आप जितनी अधिक मेहनत करेंगे, आपको उतना अधिक लाभ मिलेगा।

freelancing से आप आम किसी भी व्यवसाय के मुकाबले बहुत ज्यादा पैसे कमा सकते हैं। इस फील्ड में सक्सेस हासिल करने के लिए जरूरी है कि आप दूसरे freelancers की success stories को पढ़ें और inspire हो। उम्मीद है कि ऊपर दिए गयी explanations और examples के जरिये हम आपको freelancing का मतलब और उसके फायदे समझाने में सक्षम रहे हैं।

Leave a comment