Sabiha rizvi irs upsc success story: यह लेडी officers है इनकम टैक्स रेड स्पेशलिस्ट, पहले अटेम्प्ट में बनीं IRS ऑफिसर, जानिए साबिहा रिजवी की सफलता की कहानी

upsc success story

upsc success story: भारत में यूपीएससी परीक्षा पास करना काफी युवाओं का सपना होता है। यूपीएससी की परीक्षा पास या क्लियर करना काफी मेहनत का काम है और इसके लिए जमकर तैयारी करनी पड़ती है। बहुत कम लोग ही ऐसे होते हैं जो यूपीएससी एक्जाम को अपने पहले अटेम्प्ट में ही क्लियर कर लेते हैं। पहले अटेम्प्ट में यूपीएससी परीक्षा क्लियर करने वाले काफी मेहनती और जुनूनी होते हैं।

ऐसे में आज हम आपको एक ऐसे ही शख्सियत के बारे में बताने वाले हैं जिन्होंने अपने पहले ही यूपीएससी अटेंप्ट में अपना परीक्षा पास कर लिया था। हम बात कर रहे हैं आईआरएस अधिकारी साबिहा रिजवी का, यह अपने जिंदा दिल अंदाज के लिए मशहूर है। साथ ही साबिहा रिजवी इनकम टैक्स स्पेशलिस्ट ऑफिसर मानी जाती है। इन्होंने अपने पहले यूपीएससी एग्जाम में 303 रैंक हासिल करते हुए आईआरएस अफसर बनी थी। तो लिए इस लेख के माध्यम से हम साबिहा रिजवी की सफलता की कहानी के बारे में जानते हैं।

साबिहा रिजवी की शुरुआती जिंदगी।

यूपीएससी परीक्षा पास करने के बाद आईआरएस अफसर बनी साबिहा रिजवी मूल रूप से राजस्थान के कोटा शहर की रहने वाली निवासी हैं। उनके परिवार में उनके माता-पिता और कुल चार भाई बहन शामिल है जिसमें साबिहा रिजवी सबसे छोटी है। इनके पिता कोटा में ही स्टोन यानी पत्थर का बिजनेस करते थे।

शुरुआती दिनों यानी हाई स्कूल से ही साबिहा रिजवी नहीं अफसर बनने का सपना देख लिया था। इनके परिवार में आर्थिक स्थिति काफी अच्छी थी लेकिन एक समय उनके पिता का बिजनेस में जबरदस्त घाटा हुआ था जिसके बाद परिवार को छोटी-मोटी चीजों के लिए संघर्ष करना पड़ा था।

पिता ने पढ़ाई में नहीं छोड़ी कोई कमी।

एक समय ऐसा था जहां परिवार की हालत काफी ज्यादा बिगड़ गई थी लेकिन इसके बावजूद साबिहा रिजवी के पिता ने पढ़ने में कोई भी कसर नहीं छोड़ी थी। साबिहा रिजवी ने अपनी 12वीं कक्षा की पढ़ाई पूरा करने के बाद अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में एडमिशन कराया था। कॉलेज में पढ़ाई करते वक्त उन्होंने कॉलेज में बेस्ट गर्ल का अवार्ड भी अपने नाम किया था। इसके अलावा उन्होंने साल 2007 में इतिहास में गोल्ड मेडल के साथ ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त की थी। इसके बाद साबिहा रिजवी पूरी तरह से यूपीएससी की तैयारी करने में जुट गई थी।

Sabiha rizvi irs

पहली बार में ही क्लियर किया यूपीएससी।

साल 2007 में अपना ग्रेजुएशन पूरा करने के बाद साबिहा रिजवी यूपीएससी की तैयारी में छूट गई थी और इसके 1 साल बाद यानी 2008 में इन्होंने पहली बार यूपीएससी एग्जाम में शामिल हुई थी। पहले ही अटेम्प्ट में साबिहा रिजवी ऑल इंडिया 303 रैंक के साथ यूपीएससी क्लियर कर लिया था।

इन्होंने 1 साल की तैयारी में ही यूपीएससी की एग्जाम को पार कर लिया था। एग्जाम क्लियर करने के बाद इन्हें आईआरएस सर्विस मिली थी। साबिहा रिजवी ने इनकम टैक्स विभाग में बतौर असिस्टेंट कलेक्टर के पद के लिए सिलेक्ट हुई थी। इनकम टैक्स विभाग में साबिहा रिजवी की पहचान इनकम टैक्स रेड स्पेशलिस्ट के तौर पर किया जाता है।

तैयारी के दौरान बहन की हुई मृत्यु।

साबिहा रिजवी ने यूपीएससी एक्जाम क्लियर करके अपना सपना तो पूरा कर लिया लेकिन इसी बीच उन्होंने अपनी एक करीबी बहन को भी खो दिया था, जिसके लिए उन्हें बहुत दुख है। जब साबिहा रिजवी यूपीएससी की तैयारी कर रहे थे तो इस दौरान उनकी बहन शगुप्ता का निधन हो गया था,

लेकिन परीक्षा के चलते घर वालों ने उन्हें इसकी जानकारी नहीं दी थी। साबिहा रिजवी को यह जानकारी लगभग दो महीने के बाद दी गई थी। साबिहा रिजवी बताते हैं कि उनकी बहन उनसे काफी ज्यादा करीब थी, इसलिए उनके निधन के बाद इन्हें अकेलापन महसूस होने लगा था।

कैप्टन मोहम्मद इरशाद खान से हुई शादी।

आईआरएस ऑफीसर साबिहा रिजवी और उनके पति कैप्टन मोहम्मद इरशाद खान की मुलाकात पहली बार फेसबुक के जरिए हुई थी। उनके पति ने भी अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी से पढ़ाई पूरी की है। फेसबुक पर हुई मुलाकात धीरे-धीरे दोस्ती बनी और फिर यह रिश्ता प्यार में बदल गया।

इसके बाद इन दोनों की बाद शादी तक पहुंच गई और फिर दोनों ने एक दूसरे के साथ शादी रचा लिया। कैप्टन इरशाद को गाने लिखने और शायरी के काफी शौक है। दोनों मौजूद समय में खुशी-खुशी अपने जीवन व्यतीत कर रहे हैं।

Hello, friends, my name is Bhavesh, I am the author and founder of this blog, and through this website I share with you all the information related to business, education, automobile, technology and entertainment.

Leave a comment